पीरियड आने के बाद भी क्या कोई प्रेग्नेंट हो सकते है?

पीरियड आने के बाद भी कई महिलाओं के मन में एक सवाल उठता है कि पीरियड आने के बाद भी क्या कोई प्रेग्नेंट हो सकते है? जब भी महिलाओं को पीरियड्स होते हैं, तब उनके शरीर में अंडों के निर्माण की प्रक्रिया शुरू होती है

यदि उनके शुक्राणु इस दौरान उनके अंडों से मिलते हैं, तो गर्भ ठहरता है। इसलिए, सामान्यतः पीरियड के दौरान महिला प्रेग्नेंट नहीं हो सकती है

हालांकि, कुछ महिलाओं को पीरियड आने के बाद भी प्रेग्नेंट हो सकती है। इसका मुख्य कारण हो सकता है कि उनके शुक्राणु अधिक समय तक अंडों से मिलने के लिए अपना समय लेते हैं

इसके अलावा, कुछ महिलाओं में अंडों की निर्माण की प्रक्रिया अनियमित होती है, जिससे वे महिला अनुमानित पीरियड के समय से पहले या बाद में भी गर्भधारण कर सकती हैं

इसलिए, अगर आपको लगता है कि आपकी पीरियड्स के बाद आप गर्भधारण कर सकती हैं, मतलब प्रेग्नेंटहो सकते है तब ऐसे परिस्थिति में आपको एक Gynecologist डॉक्टर से बात करना जरूरी है

वे आपकी प्रेग्नेंट होने की संभावनाओं को विस्तार से जांच करेंगे और आपकी समस्या का समाधान ढूंढेंगे। लेकिन आप को डॉक्टर के पास जाने के पहले Period aane ke baad bhi Pregnant ho Sakti Hai का इस सवाल का जवाब जानना है तो आप इस लेख को शुरवात से अंत तक पढ़ सकते है

क्यों की इस लेख में हम ने इस विषय के बारे में विस्तार में जानकारी शेयर की है जिसका आप को वर्तमान तथा भविष्य जरूर फायदा होगा 

 

पीरियड आने के बाद भी क्या कोई प्रेग्नेंट हो सकते है?
Period aane ke baad bhi pregnant ho sakte Hain kya

 

पीरियड आने के बाद भी क्या कोई प्रेग्नेंट हो सकते है? 

 जी हाँ, पीरियड आने के बाद भी कोई महिला प्रेग्नेंट हो सकती है । पीरियड का समय महिलाओं के ओवुलेशन (अंडों का उत्पादन) के समय के बराबर होता है

ओवुलेशन का मतलब है अंडाशय के अंदर से एक अंडा निकलना। यह महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान एक महीने में एक बार होता है और इससे एक महिला गर्भवती हो सकती है

यानि, अंडाशय के दौरान कोई महिला संबंध बनाती है तब एक या एक से अधिक अंडे रिहाई निकल सकते हैं। अगर उनमें से कोई भी अंडा शुक्राणु के साथ मिलता है, तो वे महिला प्रेग्नेंट बन सकती है

इसके अलावा कई महिलाएं जिन्हें नियमित पीरियड्स होते हैं, वे सोचती हैं कि अगर उनका पीरियड आ गया है तो वे प्रेग्नेंट नहीं हो सकती हैं। लेकिन यह एक गलत सोच है

इसलिए यदि आप पीरियड के समय या बाद में संबंध बनाते हैं तो आपको अपने स्वास्थ्य और गर्भावस्था के बारे में सकारात्मक ढंग से सोचना चाहिए

यदि आप प्रेग्नेंट नहीं होना चाहती हैं तो आपको नियमित रूप से गर्भनिरोधक (Contraception) उपकरण का उपयोग करना चाहिए

लेकिन अगर आप आप प्रेग्नेंट हो जाती हैं तो आपको डॉक्टर से मिलकर विशेष निरीक्षण करवाना चाहिए ताकि आपको सही तरह से देखभाल और सलाह मिल सके

 

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए

पीरियड के आखरी दिनों में संबंध बनाने से प्रेग्नेंट होने की संभावना ज्यादा होती है, लेकिन यह कन्फर्म नहीं होता कि आपको कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए

मासिक धर्म की अवधि महिलाओं के शरीर के लिए अलग-अलग होती है और इसलिए सभी महिलाएं के लिए यह अलग-अलग हो सकता हैं

वैसे, अधिकतर महिलाएं के अनुसार अपनी पीरियड के छठे दिन से दसवें दिन तक संबंध बनाने से प्रेगनेंसी  होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है क्यों की इस समय, अंडों के उत्पादन का काम शुरू होता है और उनकी गति तेज होती है

लेकिन प्रेगनेंसी के लिए सही समय को जानने के लिए, महिलाओं को अपनी मासिक धर्म की अवधि (Duration) के बारे में अधिक जानकारी होनी चाहिए, अगर किसी महिला का मासिक धर्म अनियमित है तो उन्हें संबंध बनाने से पहले डॉक्टर से बात करना चाहिए

इसके अलावा कुछ जरूरी बातों को ध्यान में रखते हुए आप सही निर्णय ले सकते हैं जैसे की पीरियड के पहले सप्ताह में संबंध बनाना बेहद खतरनाक हो सकता है,

क्योंकि इस समय गर्भाशय लिनिंग (endometrium) बहुत कमजोर होती है जिसके कारन संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है

दूसरी ओर, पीरियड के दौरान भी संबंध बनाना ज्यादा सुरक्षित नहीं होता है क्योंकि इस समय भी संक्रमण का खतरा बढ़ता है

पीरियड के दूसरे सप्ताह में अधिकतर महिलाओं को पीरियड से आई कमजोरी में सुधार दिखाई देता है और ऐसे में संबंध बनाना अधिक सुरक्षित होता है

इस समय महिला अपने स्वास्थ्य का सही तरह से ध्यान रखती हुई संबंध बना सकती है। इसीलिए अनुभवी लोगों के अनुसार पीरियड के दूसरे सप्ताह में संबंध बनाना चाहिए

 

पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं

महिलाओं में पीरियड के दौरान अंडाशय से एक अंडा उत्पन्न होता है जो फैलोपियन ट्यूब (Fallopian Tube) के माध्यम से गर्भाशय तक पहुंचता है। अगर यहां शुक्राणु इस अंडे से मिल जाता है, तो गर्भावस्था शुरू होती है

हालांकि, महिलाओं की आमतौर पर पीरियड की अवधि 28 दिनों से अधिक या कम हो सकती है, इसलिए प्रेग्नेंट होने के लिए सटीक दिन तय करना मुश्किल हो सकता है

हालांकि, आपके आखिरी मासिक धर्म के पहले दिन को दिन 1 मानते हुए, आपके बीच के 12-14 वें दिन एक गर्भधारण करने के लिए सबसे अच्छे दिन हो सकते हैं

इसलिए, अगर आप प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको अपने पीरियड के चक्र के अनुसार अपने अंडाशय के उत्पादन और शुक्राणु के जीवनकाल को समझना चाहिए

महिलाओं के पीरियड की अवधि अलग-अलग होती है इसलिए उनके शरीर के साथ उनकी ओवुलेशन भी अलग-अलग समय पर होता है

आमतौर पर, महिलाओं में ओवुलेशन गर्भावस्था के लगभग 14 दिन पहले होती है

यदि आप के पीरियड की अवधि 28 दिन है तो आपका ओवुलेशन आपकी अंतिम पीरियड के बाद के 14वें दिन होगा। इसलिए, आपको इस दौरान कंटिन्यू संबंध बनाने से गर्भावस्था के लिए ज्यादा अवसर मिलता है

इसलिए, अगर आप प्रेगनेंसी की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको अपने मासिक धर्म के चक्र के अनुसार अपने अंडाशय के उत्पादन और शुक्राणु के जीवनकाल को समझना जरूरी है

अगर आप को यह समझने में मुश्किल हो रह है तो आप महिला डॉक्टर से सलाह ले सकते है जो आप के लिए आसान और उचित विकल्प होगा

 

क्या बिना पीरियड के प्रेग्नेंट हो सकती है

जी हाँ, एक स्त्री बिना पीरियड के प्रेग्नेंट हो सकती है इसे अनियमित गर्भावस्था (irregular pregnancy) कहते हैं। ऐसे मामलों में, गर्भावस्था आमतौर पर जांच के बाद ही पता चलती है

जैसा कि आप जानते होंगे, महिलाओं के पीरियड का समय एक से दूसरे से अलग होता है और अनियमितता का कारण भी इसी से होता है

कुछ महिलाओं के शारीरिक संरचना इसलिए अनियमित होती है क्योंकि उनके हार्मोन में बदलाव होते रहते हैं जो कि गर्भावस्था के लिए आवश्यक होते हैं

इसके अलावा उम्र, स्तनपान, ओवरवेट, थायराइड रोग आदि इन वजह से भी कही सारे महिलाओ में मासिक धर्म नियमित रूप से नहीं होता है

इसीलिए यदि आप गर्भवती होने की संभावना को लेकर संदेह महसूस करते हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उनसे सलाह लीजिये

 

बिना पीरियड के प्रेग्नेंट होने के कारण

बिना पीरियड के प्रेग्नेंट होने के कई कारण हो सकते हैं। इनमें से कुछ मुख्य कारण निम्नलिखित हैं:

  • महिला का उम्र: महिलाओं की उम्र बढ़ने के साथ, उनकी ओव्यूलेशन शक्ति भी कम हो जाती है, जो अनियमित पीरियड की समस्याओं का कारण बनती है। इसलिए, अधिक उम्र की महिलाओं में बिना पीरियड के भी प्रेग्नेंट हो सकते है।
  • गर्भनिरोधक (contraceptive) उपयोग: ज्यादतर महिलाएं गर्भनिरोधक उपयोग करती हैं जो उनके हार्मोन लेवल को प्रभावित कर सकते हैं और मासिक धर्म की स्थिति को अनियमित बना सकते हैं। इसलिए, गर्भनिरोधक उपयोग के दौरान भी महिलाएं प्रेग्नेंट हो सकती है।
  • थायराइड की समस्या: थायराइड समस्याएं भी पीरियड को प्रभावित कर सकती हैं और प्रेगनेंसी में कुछ समस्याओं का कारण बन सकती हैं। इसीलिए आप को थायराइड की टेस्टिंग कर के उसपर उपचार शुरू करना चाहिए
  • वजन कम या ज्यादा होना: वजन कम होना या ज्यादा होना भी महिलाओ के पीरियड को प्रभावित कर सकता है और गर्भावस्था के दौरान समस्याओं का मुख्य कारण बन सकता है
  • मेडिकल स्थिति : कुछ मेडिकल कंडीशंस जैसे Polycystic ovary syndrome (PCOS) या मासिक धर्म से संबंधित अन्य समस्याएं भी बिना पीरियड के गर्भावस्था के कारण बन सकता हैं

यदि आप बिना पीरियड के प्रेग्नेंट होने की संभावना को लेकर चिंतित हैं, तो अपने महिला डॉक्टर से संपर्क करना सबसे अच्छा विकल्प होगा

 

पीरियड आने के बाद भी प्रेग्नेंट होने के लक्षण 

आमतौर पर पीरियड के दौरान महिला प्रेग्नेंट नहीं हो सकती है। लेकिन जैसे की हम ने कहा कुछ ऐसे कारन है जिसके कारन कुछ महिलाओं में पीरियड के बाद भी प्रेग्नेंट होने के संभावना ज्यादा होती है

यदि कोई महिला को पीरियड आकर जाते है परंतु उनमे निचे दिए कुछ लक्षण दिखाई दे रहे है तो उनके प्रेग्नेंट होने के चांचेस बढ़ जाते है इसीलिए निचे दिए लक्षण को एक बार जरूर पढ़िए

  • ओवुलेशन: प्रेगनेंसी के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्टेप ओवुलेशन का होता है, जिसमें अंडा अंडाशय से निकलता है। ओवुलेशन के दौरान एक महिला को पेट के जगह अधिक तापमान या मल्टीपल अंडे महसूस हो सकता है, जो प्रेगनेंसी का एक लक्षण है
  • इम्प्लांटेशन: जब एक उर्वरक (solvent) एक महिला के अंडाशय से निकलता है तो यह उतक (tissue) की तरफ आगे बढ़ता है और गर्भवती महिला के ऊतकों में इम्प्लांट होता है। इस प्रक्रिया के दौरान महिला को थोड़ा सा ब्लीडिंग या पेट में दर्द भी हो सकता है।
  • हार्मोन में बदल : प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में अधिक हार्मोन उत्पन्न होते हैं। इसके कारण महिला को पीरियड से पहले अधिक थकान महसूस कर सकती है इसीलिए अगर आप को बहोत थकन महसूस हो रही है तो यह भी प्रेगनेंसी एक लक्षण है
  • स्तनों में दर्द या सूजन: प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के स्तनों में दर्द या सूजन हो सकती ह, जिसपर आप को ध्यान देना चाहिए
  • पेट में बदलाव: प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को पेट में बदलाव का संदेश मिल सकता है। इस दौरान पेट में खिंचाव, तनाव या पेट में कुछ होने का फील हो सकता है

यदि आपको ऐसे लगता है कि पीरियड आने के बाद भी आप प्रेग्नेंट हो सकते है या हो चुकी हो तो आप को महिला डॉक्टर एक्सपर्ट से बात करनी चाहिए, जो आप के स्थिति को चेक करेंगे और आगे की सलाह देंगे

 

पीरियड मिस होने के बाद प्रेगनेंसी से कैसे बचें

पीरियड मिस होने के बाद प्रेगनेंसी से बचने के लिए आपको संभोग के दौरान सुरक्षा उपाय का पालन करना चाहिए जैसे की कंडम या अन्य गर्भ निरोधक उपकरणों का उपयोग करना एक सुरक्षित विकल्प हो सकता है

इसके अलाव यदि आप किसी के साथ संबंध बनाते है तब इस बात का ध्यान रखना जरूरी है की पार्टनर का स्पर्म आप के गर्भाशय तक न पोहचे जो आप को प्रेग्नेंट होने से बचाते हैं

अगर आप अनियमित पीरियड के बारे में चिंतित हैं तो आप अपने डॉक्टर से मिल सकते हैं। डॉक्टर आपकी समस्या को समझेंगे और आपको उचित सलाह देंगे

इसके अलावा, गर्भनिरोधक दवाओं का भी उपयोग किया जा सकता है। ये दवाएं गर्भ निरोधक और सामान्य मासिक धर्म को नियंत्रित करने में मदद कर सकती हैं

लेकिन, यह दवा आप को डॉक्टर की सलाह के बिना मेडिकल से नहीं मिलेंगे इसीसलिए इन दवाओँ के उपयोग के लिए डॉक्टर सलाह लेना जरूरी है

आखिर में आपको अपने शरीर के संकेतों को समझना चाहिए यदि पीरियड मिस होने के बाद अगर आप लगातार उल्टी, चक्कर, सीने में दर्द या फिर किसी भी अन्य समस्या का सामना कर रहे हैं, तो आपको डॉक्टर से जल्द से जल्द मिलना चाहिए 

 

FAQ – Period aane ke baad bhi pregnant ho sakte Hain kya

सवाल : पीरियड आने के बाद भी कोई महिला प्रेग्नेंट हो सकती है

हां, पीरियड आने के बाद भी महिला को प्रेग्नेंट होने की संभावना होती है

सवाल : पीरियड आने के कितने दिन बाद प्रेग्नेंट हो सकते हैं?

महिला की ओवुलेशन के दौरान उसके शुरुआती दिनों में और उसके पीरियड के आखरी दिनों में भी प्रेग्नेंट होने की संभावना होती है

सवाल : पीरियड आने के बाद कितने दिनों तक महिला प्रेग्नेंट हो सकती है?

पीरियड आने के बाद भी महिला 5 से 7 दिनों के अंदर गर्भधारण कर सकती है। यह अंतिम पीरियड की तिथि के आधार पर भी निर्भर करता है।

सवाल : पीरियड आने के बाद प्रेग्नेंट होने से कैसे बचा जा सकता है

पीरियड आने के बाद प्रेग्नेंट होने से बचने के लिए महिलाओं को अनुचित संभोग से बचना चाहिए, गर्भनिरोधक गोलियाँ का सेवन करना चाहिए इसके अलावा, महिलाओं को नियमित रूप से अपने डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए

सवाल : प्रेग्नेंट होने के संकेत क्या हैं?

बार-बार उलटी होना, सीने में जलन, उच्च तापमान, थकान, बदहजमी, पीठ दर्द और स्तनों में खुजली जैसे लक्षण प्रेग्नेंसी के संकेत हो सकते हैं

 

Conclusion

आज हम ने जाना पीरियड आने के बाद भी क्या कोई प्रेग्नेंट हो सकते है?? जिसका जवाब पीरियड आने के बाद भी कुछ महिलाओं में गर्भावस्था का असर हो सकता है।

यह इसलिए होता है क्योंकि शुरुआती दिनों में अंडाशय से निकलने वाला अंडा थोड़ा समय तक जीवित रह सकता है और शुक्राणु भी कुछ दिनों तक जीवित रह सकते हैं ऐसे दिनों में यदि आप संबंध बनाते है तो आप पीरियड आने के बाद भी प्रेगनेंट हो सकते है

इसलिए, अगर आप प्रेग्नेंट होने से बचना चाहते हैं, तो आपको अपने पार्टनर के साथ कुछ दिनों तक दूर रहना चाहिए और उपयुक्त गर्भनिरोधक उपकरणों का उपयोग करना चाहिए। यदि आपको गर्भावस्था के बारे में कोई भी संदेह है, तो आपको महिला डॉक्टर से जल्द से जल्द बात करना चाहिए

 

10 thoughts on “पीरियड आने के बाद भी क्या कोई प्रेग्नेंट हो सकते है?”

    • मासिक धर्म आने के बावजूद गर्भावस्था परीक्षण पॉजिटिव आने के कई कारण हो सकते हैं। इसकी संभावना है कि Test गलत वक़्त पर की गई हो और शरीर में हॉर्मोन्स के स्तर में परिवर्तन की वजह से पॉजिटिव परिणाम दिखा सकता है। कुछ मामलों में, गर्भाशय संबंधित समस्याएं भी ऐसे परिणाम का कारण बन सकती हैं। अधिक सुरक्षितता के लिए, डॉक्टर से सलाह लेना सबसे अच्छा होगा, जिससे सही कारण का पता चल सके और उचित उपचार किया जा सके।

      Reply
  1. Mere periods 5 September ko aa chuke hai lakin 24 date se mughse brown discharge ho rh hai or period ka pain hone par bhi period ni ho rh hai kyu

    Reply
    • Brown discharge ka matlab ho sakta hai old blood ya kuch hormonal changes ka result ho. Aise me aapko professional medical advice ki zarurat hai. Aapko apne doctor se consult karna chahiye, woh aapko sahi guidance denge. Kabhi-kabhi stress, diet, ya hormonal changes bhi is tarah ke situations ko influence kar sakte hain. Apne health ke liye professional guidance lena sabse important hai.

      Reply
  2. Mera period 28 September ko aya tha uske baad mere period 29 October ko a gya aise me mai kya pergent ho sakti hu aage ane bale months me ya mujhe doctor ko dikhna chahiye

    Reply
  3. Mera period 28 September ko aya tha uske baad mere period 19 October ko a gya aise me mai kya pergent ho sakti hu aage ane bale months me ya mujhe doctor ko dikhna chahiye

    Reply
  4. Mera period 28 September ko aya tha uske baad mere period 19 October ko a gya aise me mai kya pergent ho sakti hu aage ane bale months me ya mujhe doctor ko dikhna chahiye mujhe symtoms sare pergency bale lgte h phir bhi m pergent nhi ho pati hu period date se pehle hi a jata h period date se pehle ana thik rehta h kya

    Reply
    • Agar aap ko period Aa rahe hai to aap filal Aap ko pergency nahi hai, hrmons ke karan kah baar period late ho jate hai is par aap ko ek bar apne doctor ki salah lena jaroori hai iske aalawa aap apni pergency check karne ke liye pergency kitt ka bhi Upyog kar sakate hai | pergency kit par hum ne article likha aap use pls padh lijiye

      Reply
    • Periods ke samay kam bleeding hone ke kai reasons ho sakte hain. Hormonal changes, stress, ya nutritional deficiencies ismein shamil ho sakte hain. Kuch cases mein, medical conditions bhi iska karan ho sakti hain. Agar yeh samasya continue hoti hai ya aapko chinta hai, toh ek doctor se milke salah lena behtar hoga.

      Reply

Leave a Comment